श्रीमती प्रीति गाँधी जी को मेरा खुला पत्र

प्रीति दीदी को सप्रेम नमस्कार। आमिर खान के असहिष्णुता वाले बयान से सभी देशवासी आहत हुए थे और उन दिनों आपके ट्वीट और बयान से साफ ज़ाहिर होता था कि आप भी निश्चित तौर पर काफी आहत हुई थी। तब आपके साथ हमारे जैसे मुख्य धारा से जुड़े सभी देशवासी भी थे जो आमिर खान …

Continue reading श्रीमती प्रीति गाँधी जी को मेरा खुला पत्र

Advertisements

अरविंद केजरीवाल – इंसान या राजनीती का नक्सलवादी

अन्ना आंदोलन से निकले अरविंद केजरीवाल ने कम समय में ही राजनीती में बहुत सुर्खियां बटोरी हैं, लेकिन समय के साथ ये सुर्खियां नकारात्मकताओं से भरती चली गयी और आज इनकी राजनीती मोहल्ले के छुटभैये बदमाश नेताओ से भरी हुई है। काँग्रेस की घटिया देश चलाने की नीति और ताबरतोड़ घोटालों से ऊब चुके देशवासी …

Continue reading अरविंद केजरीवाल – इंसान या राजनीती का नक्सलवादी

बिहार आँखों देखी: नोटबंदी – कितना मुश्किल है बिहार में कैशलेस अभियान को सफल बनाना

एक तरफ जहाँ देश में डिजिटल क्रांति लाने की हर संभव कोशिश की जा रही है और केंद्र सरकार द्वारा इस योजना को सफल बनाने के लिए विभिन्न प्रयास किए जा रहे हैं, वहीं बिहार का डिजिटल युग से नाता बहुत कमजोर और लचर दिखता है। किसी भी राज्य की प्रगति का पथ प्रशस्त करने …

Continue reading बिहार आँखों देखी: नोटबंदी – कितना मुश्किल है बिहार में कैशलेस अभियान को सफल बनाना

बिहार आँखों देखी : पुलिस उपाधीक्षक सुश्री निर्मला कुमारी का अदभुत कला कौशल 

कला ईश्वर का दिया हुआ एक अनमोल वरदान है और यह वरदान किसी ना किसी मात्रा में हम सब के अंदर मौजूद है। लेकिन कला को निखारना आसान नहीं होता, इसके लिए तपस्या करनी पड़ती है और निरंतर अभ्यास करना पड़ता है। कला का महत्व और भी बढ़ जाता है जब आप अपने दैनिक कार्य …

Continue reading बिहार आँखों देखी : पुलिस उपाधीक्षक सुश्री निर्मला कुमारी का अदभुत कला कौशल 

बिहार आँखों देखी : गुंडागर्दी का राज्य, गली-गली पनप रहा अपराध

अपराध की वारदातें तो आये दिन हमारे देश के हर राज्य में होती रहती हैं। लेकिन, अगर बिहार की बात करें तो यहाँ अपराध महज एक वारदात नहीं रह गया है। अपराध को अपना पेशा बनाने वाले वाले छोटे-बड़े पूंजीपतियों और अपराधियों का बिहार के शहर से लेकर गाँव तक, हर जगह  का बोलबाला है। …

Continue reading बिहार आँखों देखी : गुंडागर्दी का राज्य, गली-गली पनप रहा अपराध

हास्य कलाकार एवं अभिनेता कपिल शर्मा को खुला पत्र

प्रिय भाई कपिल शर्मा जी, सर्वप्रथम आपको हमें अपने साफ सुथरे हास्य कला के जरिए हँसाते रहने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद। आपने भले ही रिश्वत माँगे जाने पर ज़ाहिर की हुई अपनी प्रतिक्रिया से कई चाहने वालों का दिल दुखाया हो, लेकिन मुझे लगता है आपने कोई गलती नहीं की है। आज आप लोकप्रियता की …

Continue reading हास्य कलाकार एवं अभिनेता कपिल शर्मा को खुला पत्र

पेलेट गन पर रोक के फैसले पर गृहमंत्री श्री राजनाथ सिंह जी को खुला पत्र

माननीय श्री राजनाथ सिंह जी को सप्रेम नमस्कार, मेरा आपको चिट्ठी लिखने का मकसद आपको किसी प्रकार की खरी-खोटी सुनाना नहीं है और ना ही मैं आपको विभिन्न राजनीतिक पार्टियों की तरह बेबुनियाद आरोप लगाने के लिए यह चिट्ठी लिख रहा हूँ। बल्कि, मैं खुश हूँ कि मैं जिन्हें अपने देश के प्रधानमंत्री के तौर …

Continue reading पेलेट गन पर रोक के फैसले पर गृहमंत्री श्री राजनाथ सिंह जी को खुला पत्र

मैं खुद में खो रहा अपनों से दूर हो रहा हूँ…

मेरा देश मेरा क्षेत्र मेरा गाँव मेरा घर रोम रोम अंदर मेरे देते मुझे ये खबर बोल मीठे मधुर जोड़े एक दूसरे को दर बदर सुन के अपने देश के टुकड़े टुकड़े होने की बात घूँट खून का पी अंदर शहर हो रहा हूँ मैं खुद में खो रहा अपनों से दूर हो रहा हूँ...!! …

Continue reading मैं खुद में खो रहा अपनों से दूर हो रहा हूँ…

आज का पंचतन्त्र : माल्या भागा तब सियासत जागा

किसी गाँव में एक सेठानी रहती थी, जिसका वहाँ बहुत बड़ा रुतबा था। सेठानी बहुत अमीर थी, क्योंकि उसका पति कभी राजा रजवाड़े के खानदान से था और बरसों से गाँव में अपना प्रभुत्व बनाये रखा था। सेठानी और उसके बेटे ने अपने यहाँ एक लकड़ी का पुतला रखा था, जिसे वो गाँव का सरपंच …

Continue reading आज का पंचतन्त्र : माल्या भागा तब सियासत जागा

कन्हैया के आधारहीन नारों का समर्थन करने वाले एक बार जरूर पढ़ें ..

आप सब इस बात की सच्चाई को बहुत अच्छे से जानते हैं कि हर सिक्के के दो पहलू होते हैं। अपने आस पड़ोस हो रही कितनी ही घटनाओ में हम इसका जिक्र कर देते हैं। बुद्धिजीवी वर्ग से भी अक्सर यह ज्ञान सुनने को मिलता है कि हमें किसी भी घटना का बस वह पहलू …

Continue reading कन्हैया के आधारहीन नारों का समर्थन करने वाले एक बार जरूर पढ़ें ..