बिहार आँखो देखी : कचरे के ढेर में सड़ता सुशासन 

गाँधी जी ने कहा था स्वच्छता, भक्ति से बढ़कर है। लेकिन बिहार एक ऐसा राज्य है जहाँ स्वच्छता का नामोनिशान दूर-दूर तक नहीं दिखता। गाँव और छोटे शहरों की गंदगी तो चरम सीमा पर है ही, राजधानी पटना तक की सड़कें और गालियाँ गंदगी से बजबजा रही है। वैसे पटना शहर का नाम भारत के …

Continue reading बिहार आँखो देखी : कचरे के ढेर में सड़ता सुशासन 

Advertisements